सीएम बोले अच्छा होता अगर विपक्ष की मौजूदगी में होती नशे के खिलाफ चर्चा

सीएम बोले अच्छा होता अगर विपक्ष की मौजूदगी में होती नशे के खिलाफ चर्चा
नियम 130 के तहत चल रही चर्चा में विपक्ष रहा गैर मौजूद

धर्मशाला: विधानसभा में नशे के खिलाफ नियम 130 के तहत चर्चा का जवाब देते हुए सीएम जयराम ठाकुर ने विपक्षी कांग्रेस पार्टी पर तंज कसते हुए कहा कि अच्छा होता कि विपक्ष सदन में होता तो चर्चा और भी वाजिब होती और अच्छा परिणाम निकल कर सामने आता।

सीएम ने कहा कि जिस देश के युवा नशे की गिरफ्त में होंगे, वहां के लोगों पर हुकूमत करना आसान होता है। उन्होंने कहा कि सिंथेटिक नशा करने वाले को तो आजकल पहचानना भी संभव नहीं है। जब उसके हाव-भाव बदलते हैं, तभी नशे की पहचान होती है। उन्होंने कहा कि सदन में भले ही इस मुद्दे पर भाषणबाजी कर लें, कानून बना लें, नीतियां बना लें। लेकिन इनसे कुछ नहीं होगा। जब तक आम लोग इसकी बुराइयों के प्रति जागरूक नहीं हो जाते, तब तक नशे के दुरुपयोग को रोकना आसान नहीं होगा।

पड़ोसी मुल्क भी जिम्मेदार
जयराम ठाकुर ने कहा कि नशीले पदार्थों को पाकिस्तान-अफगानिस्तान से तस्करी करके लाया जा रहा है। इसे रोकने के लिए चंडीगढ़ में हुई बैठक में न केबल हिमाचल, पंजाब, हरियाणा और उत्तराखंड के मुख्यमंत्रियों ने भाग लिया, बल्कि दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने भी हिस्सा लेने की इच्छा जाहिर की।

सरकार ने NDPS  एक्ट के तहत गैर जमानती कानून बनाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में नशे के खिलाफ ज्यादा मामले दर्ज होने से साफ है कि लोगों में जागरूकता बढ़ी है। ऐसे मामलों को रफा-दफा करने की बजाय उन्हें सार्वजनिक करने को तरजीह दी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *